Press release details

18-Sep-2020:जिला सुकमा में अलग-अगल थानों में 02 नक्सली सहयोगी सहित 06 आरोपी गिरफ्तार, दिनांक 14.09.2020
जिला सुकमा में वरिष्ठ अधिकारियांे के मार्गदर्षन में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत दिनांक 14.09.2020 को थाना/कैम्प पोलमपल्ली से सीआरपीएफ टूआईसी. श्री एस.एस. मिश्रा 150 वाहिनी सीआरपीएफ के नेतृत्व में, श्री अखिलेष कौषिक, एसडीओपी दोरनापाल व उनि. संजय यादव के हमराह जिला बल, टूआईसी. नवीन राणा के हमराह 02 वाहिनी सीआरपीएफ एवं डीसी. निखिलेष भारद्वाज व एसी. अभिषेक चैबे के हमराह 74 वाहिनी सीआरपीएफ का बल एरिया डोमिनेषन व नक्सली आरोपियों की धरपकड़ हेतु ग्राम पालामड़गू, कोर्रापाड़, सुरपनपारा की ओर रवाना हुये थे कि अभियान के दौरान ग्राम पालामड़गू के जंगल के पास 01 संदिग्ध व्यक्ति पुलिस पार्टी को देखकर भागने/छुपने की कोषिष कर रहा था जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया पूछताछ करने पर अपना नाम कवासी बुधरा पिता कवासी जोगा (डीएकेएमएस उपाध्यक्ष) उम्र 47 वर्ष जाति मुरिया साकिन पालामड़गू जिला सुकमा का होना बताये। जो थाना पोलमपल्ली क्षेत्रान्तर्गत दिनांक 27.12.2018 को ग्राम दोरनापाल-जगरगुंडा मुख्य मार्ग शीशी रोड ग्राम गोरगुंडा के पास आम नागरिक से डकैती करने की घटना में था, घटना पर थाना पोलमपल्ली में अप.क्र. 17/18 धारा 147, 148, 149, 341, 395 भादवि., 25, 27 आम्र्स एक्ट पंजीबद्व है। उक्त नक्सली आरोपी को गिरफ्तार कर आज दिनांक 14.09.2020 को माननीय न्यायालय सुकमा के समक्ष पेष कर जेल दाखिला किया गया। इसी क्रम में दिनांक 13.09.2020 को कैम्प चिंतलनार कोेबरा सहायक कमाण्डेन्ट श्रीधर आर के हमराह 201 वाहिनी कोबरा व जिला बल का संयुक्त बल नक्सली गस्त सर्चिंग हेतु ग्राम मरकागुड़ा, कोत्तागुड़ा जंगल की ओर रवाना हुये थे कि अभियान के दौरान 01 लाल रंग का महिन्द्रा ट्रेक्टर राषन व अन्य सामान से भरा हुआ ग्राम कुमोड़तोंग की ओर जा रहा था, जिसे पुलिस पार्टी द्वारा रूकवाने पर उनमें सवार 04 लोगो में से 02 लोग ट्रेक्टर से कूदकर भागने लगे जिन्हे पुलिस पार्टी द्वारा घेराबंदी कर पकड़ा गया और ट्रेक्टर में सवार पांचो व्यक्तिओं से पूछताछ करने पर संतोष जनक जवाब नहीं मिलने पर ट्रेक्टर में भरा सामान सहित पांचो व्यक्तियों को थाना चिंतलनार लाया गया एवं गहन पूछताछ किया गया। जिसमें ट्रैक्टर चालक ने अपना नाम 01. मुचाकी देवा पिता स्व. भीमा (नक्सली सहयोगी) उम्र 25 वर्ष साकिन कुमोड़तोंग, थाना पामेड़, जिला बीजापुर एवं आपने आप को नक्सलियों का सहयोगी होना बताया 02. हेमला कोसा पिता हुंगा (मिलिषिया सदस्य) उम्र 35 वर्ष साकिन फुलनपाड़, थाना चिंतलनार, जिला सुकमा का होना बताया एवं साथ ही यह बताया कि वह मिलिषिया सदस्य के रूप में वर्ष 2011 से कार्यरत् है और पूर्व में वह डीव्हीसी पापा राव का सुरक्षा गार्ड रह चुका है, 03. मुचाकी आयता पिता हुंगा (डीएकेएमएस सदस्य) उम्र 30 वर्ष साकिन कुमोड़तोंग, थाना पामेड़, जिला सुकमा का होना तथा डीएकेएमएस सदस्य के रूप में कार्य करना बताया, 04. मड़कम भीमा पिता स्व. नंदा (मिलिषिया सदस्य) उम्र 25 वर्ष साकिन केरलापेंदा, हाॅल लखापाल, थाना चिंतलनार, जिला सुकमा तथा मिलिषिया सदस्य के रूप में कार्य करना बताया, 05. राजकुमार रूंजे पिता लक्ष्मैया (नक्सली सहयोगी) उम्र 50 वर्ष साकिन चिंतलनार, थाना चिंतलनार, जिला सुकमा का होना तथा अपने आप को नक्सलियों का सहयोगी होना बताया एवं उक्त ट्रेक्टर में भरा सामान चावल 01 बोरी, आटा 01 बोरी, नारियल 01 बोरी, अगरबत्ती 05 पैकेट, स्कुल का किताब 01 बोरी, टाइगर बिस्कुट 02 कार्टून, चाॅकलेट बिस्कुट 03 कार्टून, पतंजली बिस्कुट 02 कार्टून, पंजाबी तड़का 46 नग, मूंग दाल नमकीन 48 नग, आकाष नमकीन 60 नग, भूंजा चना 01 बोरी, सरगन साबुन 02 कार्टून, घड़ी साबुन 01 कार्टून, मितान साबुन 01 कार्टून, सिंथाल साबुन 01 कार्टून, लाईफबाॅय साबुन 02 कार्टून, पूजा साबुन 02 कार्टून, संजीवनी आरआई तेल 01 कार्टून, डाबर सरसो तेल 01 कार्टून, शक्कर 02 बोरी, तेल 06 टीना, तंबाकू 02 बोरी, चूना 05 पैकेट, प्लाज 02 बोरी, आलू 03 बोरी, पैरागान चप्पल 02 जोड़ी (सामान लगभग 80 से 85 हजार का) एवं एक अन्य कार्टून में विस्फोट सामग्री 02 बण्डल इलेक्ट्रिक वायर, 01 बण्डल कोर्डेक्य वायर, 12 नग जिलेटिन राॅड, 10 नग इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 40 नग पेंसिल बैटरी, 06 नग टार्च बैटरी को नक्सली कमांडर लोकेष एवं जगदीष के कहने पर नक्सलियों तक पहुंचाया जाना बताया गया। उक्त सामान अवैध रूप से प्रतिबंधित माओवादी संगठन के नक्सलियों तक सप्लाई करते पाये जाने पर उनसे 01 ट्रेक्टर, राषन सामान व विस्फोट सामान को जप्त कर उक्त पांचो व्यक्तियों के विरूद्ध थाना चिंतलनार में अप. क्र. 08/2020 धारा 8 (1)(2)(3)(5) छ0ग0 विषेष जन सुरक्षा अधि. 2005 एवं 4, 5 वि.प. अधि. का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। नक्सलियों के मुख्य सप्लायर मुचाकी देवा द्वारा पूछताछ में यह भी बताया गया कि वह नक्सली कमांडर संदेष से अनुमति लेकर अपने ग्राम में किराना दुकान संचालित कर रहा था व सुकमा, दोरनापाल से अपने दुकान की आड़ में नक्सलियों को सामान परिवहन कर पहुंचाता था। प्रायः इसके दुकान में जगरगुंडा एरिया के नक्सली संदेष व लोकेष व उसके सदस्य आकर पुलिस की गतिविधियों के आरे में पूछताछ कर नक्सली जरूरत का सामान लेकर जाते थे। देवा द्वारा मई-जून में मिनपा घटना के उपरांत ग्राम दारेली व इत्तालंका के पास हुये नक्सलियों के द्वारा कराये गये कलागजब कार्यक्रम जो 03 दिवस चला। उनके लिए 05 दिन पूर्व चेरला से लगभग 80-85 हजार का सामान नक्सली कुंजाम हुंगी (डीएकेएमएस अध्यक्ष, जगरगुंडा एसी) के कहने पर लाकर छोड़ा था। इसी प्रकार माह जूलाई 2020 में नक्सली कमांडर जगदीष डीव्हीसी के लिए 08 जीबी व 64 जीबी मेमोरी कार्ड दोरनापाल किसी मोबाईल दुकान से लेकर छोड़ा था। देवा से पूछताछ में कुछ नक्सली मददगारो के बारे में संज्ञान में आया है जिनकी गतिविधियों पर नजर रख आगामी दिनों में कार्यवाही किया जाएगा। इसी प्रकार नक्सली सहयोगी राजकुमार रूंजे वर्ष 2011-12 से पूर्व जगरगुंडा एसी. सचिव पापाराव डीव्हीसी के संपर्क में रहकर अंदरूनी क्षेत्रों के विभिन्न बाजारों में जाकर नक्सलियों की उपयोग की सामग्री सप्लाई करता था। वर्तमान में नक्सली संदेष के संपर्क में रहकर उक्त कार्य कर रहा था। चिंतलनार से नक्सलियों द्वारा वसूली के अवैध पार्टी चंदा भी जमाकर नक्सलियों तक पहुंचाया है। सभी नक्सली आरोपियों को दिनांक 13.09.2020 को गिरफ्तार कर आज दिनांक 14.09.2020 को माननीय न्यायालय सुकमा के समक्ष पेष कर जेल दाखिला किया गया।
news_image