Missing image

‘‘स्पंदन कार्यक्रम’’ जिला सुकमा

12-Jun-2020

आदरणीय पुलिस महानिदेशक महोदय श्री डी.एम. अवस्थी के निर्देशानुसार प्रारंभ किये गये ‘‘स्पंदन अभियान’’ कार्यक्रम के अनुपालन में जिला सुकमा के पुलिस अधीक्षक महोदय श्री शलभ सिन्हा, द्वारा दिनांक 12.06.2020 को पुलिस लाईन सुकमा में ‘‘जनरल परेड’’ की सलामी ली गयी। सलामी उपरान्त पुलिस अधीक्षक महोदय ने दरबार लगाकर अधिकारी/कर्मचारियों से उनकि गुजारिशें सुनी जिसमें कर्मचारियों द्वारा बताये गये समस्याओं और गुजारिशों के त्वरित निराकरण के लिए उन्हें आश्वासन दिलाया और उपस्थित राजपत्रित अधिकारियों को क्रियावयन हेतु दिशा-निर्देश भी दिये, साथ ही कर्मचारियों के लिये स्पोर्टस सुविधा, योग, मनोरंजन की सुविधा एवं आवासीय सुविधा सुनिश्चित् कराने के संबंध में उन्हे आश्वस्त किया गया। पुलिस लाईन के निरीक्षण उपरांत आवसीय काॅलोनी रक्षित केन्द्र में जाकर व्यक्तिगत रूप से कर्मचारियों और उनके परिजनों से मुलाकात किये और उनकि समस्या सुनी और त्वरित निराकरण का आश्वासन दिया। उपरोक्त स्पंदन कार्यक्रम में जिला पुलिस के राजपत्रित अधिकारीगण, रक्षित निरीक्षक एवं जिला बल के अधिकारी/कर्मचारिगण उपस्थित रहे। इसी तारतत्य में जिला सुकमा के समस्त थाना/कैम्पा में स्पंदन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

Missing image

भारतीय स्टेट बैंक शाखा सुकमा में हुई धोखाधड़ी की खबरों को संज्ञान में लेते हुए वरिष्ठ अधिकारी पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज श्री विवेकानंद सिन्हा के निर्देष पर पुलिस अधीक्षक सुकमा श्री शलभ सिन्हा के मार्गदर्षन मे तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक,

09-Sep-2019

भारतीय स्टेट बैंक शाखा सुकमा में हुई धोखाधड़ी की खबरों को संज्ञान में लेते हुए वरिष्ठ अधिकारी पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज श्री विवेकानंद सिन्हा के निर्देष पर पुलिस अधीक्षक सुकमा श्री शलभ सिन्हा के मार्गदर्षन मे तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, श्री सिद्वार्थ तिवारी एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, श्री उदय किरण के नेतृत्व मे घटना का खुलासा एवं आरोपी की पतासाजी तथा विवेचना हेतु एक विषेष टीम का गठन किया गया। इसी तारतम्य में दिनांक 23/08/2019 को प्रार्थी कुंजाम उमेष पिता कुंजाम हुंगा उम्र 26 वर्ष साकिन बेदरे थाना जगरगुंडा के द्वारा थाना सुकमा में आवेदन प्रस्तुत किया गया कि माह मई 2019 मे उसने एस.बी.आई. सुकमा के फील्ड आफिसर विष्वजीत सिसोदिया से संपर्क कर व्यक्तिगत लोन के लिए आवेदन किया था तथा फील्ड आफिसर के द्वारा मांग करने पर उसने 08 नग कोरा हस्ताक्षरित चेक दिया था बाद मे जब प्रार्थी के खाते मे लोन की राषि आ गई तो आरोपी फील्ड आफिसर ने प्रार्थी के कोरा हस्ताक्षरित चेक का दुरूपयोग कर उसमे अपनी मर्जी से राषि भरकर प्रार्थी के खाते से 3,00,000/- रू0 निकाल लिये और प्रार्थी को लोन की पूरी राषि खाते मे नही आई कहकर गुमराह करता रहा। प्रार्थी के द्वारा आरोपी के मोबाइल से संपर्क कर लोन के शेष पैसा के लिए बोलने पर आरोपी ने 1,00,000/- रू0 प्रार्थी के खाते मे जमा करवाये थे इस प्रकार आरोपी ने प्रार्थी से छल कर उसे 2,00,000/- रू0 का नुकसान पहुॅचाया था, प्रार्थी के आवेदन पर थाना सुकमा मे अपराध क्रमांक 95/19 धारा 420, 409, 467, 468, 471 भा0दं0वि0 का अपराध पंजीब़द्ध कर विवेचना मे लिया गया। प्रकरण की विवेचना के दौरान एस.बी.आई. सुकमा से प्रार्थी के खाते से संबंधित जानकारी प्राप्त की गई तथा आरोपी विष्वजीत सिंह सिसोदिया को हिरासत मे लेकर पूछताछ करने पर उसने अपने मेमोरेण्डम मे प्रार्थी कुंजाम उमेष की तरह एस.बी.आई. सुकमा के अनेकों खाताधारकों के साथ छल कर उनके खातों से राषि निकालना बताया है तथा राषि को क्रिकेट के सट्टा मे हारने पर जीतने वाले विभिन्न लोगों के खातों मे लगभग 84,75,000 रूपये जमा करना बताया है तथा ग्राहकों से छल कर उनके खाते से निकाले गये राषि मंे से कुछ राषि अपनी कार टाटा नेक्सोन खरीदने मे लगाना व 2,00,000/- रू0 नगद अपने पास होना बताया आरोपी के निषानदेही पर 2,00,000 रूपये नगद तथा कार पुलिस द्वारा जप्त किया गया। पुलिस को विष्वजीत सिसोदिया के विरूद्ध अन्य और भी कई षिकायतें मिली है, जो विवेचनाधीन है। मामले की विवेचना व अपराधी की पतासाजी में पुलिस अनुविभागीय अधिकारी सुकमा प्रतीक चतुर्वेदी, नगर निरीक्षक सुकमा कोतवाली ए.के. नाग थाना प्रभारी गादीरास गौरव पाण्डेय, उप निरीक्षक महेष प्रधान, सत्यवादी साहू, मनोज कौषिक, सहा.उप निरी. अतुलेष राय, प्र.आर. संदीप झा, म.प्र.आर. सागर निषाद, आर. विजय सिदार की महत्वपूर्ण भूमिका रही।